घबराईए नही लॉकडाउन सख्ती की रेस में भारत कोई अकेला नही है

Photo by cottonbro on Pexels.com

भारत लॉकडाउन उल्लंघनों से अछूता नहीं है। चूंकि सार्वजनिक सभाओं में बहस छिड़ी रहती है, इसलिए यह एकमात्र देश नहीं है जो सख्त कानूनों और नियमों का पालन कर रहा है। 90 से ज़्यादा देशों में तालाबंदी लागू हो गई है और लगभग 180 देशों में कॉलेजों के साथ स्कूलों को भी बंद कर दिया गया है।

लॉकडाउन लागू होने और कर्फ्यू के कारण लोग कई दिनों तक अपने घरों में रहने को मजबूर हैं। कुछ पहले से ही नियम तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। जैसा किआप जानते हैं नियमों के लिए सख्ती बढ़ती जा रही है, यहां एक नज़र उन देशों पर जो पुरज़ोर कोशिश कर रहे हैं कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए ।

फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने क्वारंटाइन का उल्लंघन करने वालों के लिए स्थल पर गोली चलाने का आदेश दिया। उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया है कि कमजोर स्वास्थ्य प्रणाली के साथ, अगर इसे नियंत्रित नहीं किया गया तो यह एक आपदा का कारण बन सकती है।

सेना की तैनाती, फिलीपींस की रक्षा करने वाले सैन्य सोशल मीडिया और उल्लंघनकर्ताओं के लिए 2.5 लाख से 1 करोड़ तक का जुर्माना लगाने की बात की गयी है।

इटली में बिना वजह यात्रा करने पर 2.5 लाख का जुर्माना है और लोम्बार्डिया पर 4 लाख का जुर्माना है। लोम्बार्डिया में, लगभग 40 हजार लोगों पर जुर्माना लगाया गया है।

हांगकांग में, क्वारंटाइन के उल्लंघन के लिए 2.5 लाख का जुर्माना या 6 महीने की जेल की सजा का प्रावधान है।

ऑस्ट्रेलिया में कुछ जगहों पर 23 लाख और बीमारी छिपाने पर 1 करोड़ और सऊदी अरब में यात्रा का इतिहास भी साझा करना पढ़ रहा है । कथित तौर पर दुनिया में सबसे अधिक जुर्माना।

रूस में 7 साल और मैक्सिको में 3 साल की जेल का प्रावधान है।

कोलंबिया के कुछ शहरों में, राष्ट्रीय आईडी की संख्या निर्धारित की जाएगी कि कौन अपने घरों को छोड़ देगा।

पनामा में, पुरुषों और महिलाओं को घर छोड़ने के लिए अलग-अलग दिन हैं। महिलाएं सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को केवल दो घंटे के लिए घर से बाहर निकल सकती हैं जबकि पुरुष मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को।

ऑस्ट्रिया में, सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य है। लोगों को बताया गया है कि मास्क पहनना आवश्यक है।

कुल मिलाकर इस लड़ाई में भारत ही एक मात्र देश नही जहाँ सख्ती के पाठ सिखाए जा रहे हैं। संक्रमण से बचने के लिए हर कोई अपने अपने तरीके से सोशियल डिस्टेन्सिंग को लागू कर रहा है जिसे हम सब को पालन करना चाहिए।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s