कारवाँ गुज़र गया मगर तुम ना आये : इरफ़ान को आख़िर माँ से दूरी रास ना आई

कारवाँ गुज़र गया मगर तुम ना आये : इरफ़ान को आख़िर माँ से दूरी रास ना आई

इरफ़ान ख़ान की माँ पुन्यात्मा थीं। उनको अपने बेटे को जाते देखना नही पड़ा। तीन दिन पहले वो चली गयीं … Continue reading कारवाँ गुज़र गया मगर तुम ना आये : इरफ़ान को आख़िर माँ से दूरी रास ना आई

ना बम, ना बंदूक, ना बारूद, पाकिस्तान के लिए एक फ़िरोज़ ख़ान ही काफ़ी था

ना बम, ना बंदूक, ना बारूद, पाकिस्तान के लिए एक फ़िरोज़ ख़ान ही काफ़ी था

फिरोज खान एक प्रगतिशील व्यक्तित्व के रूप में जाने जाते थे। स्टाइलिश, एक स्टार की बेजोड़ खूबियाँ थीं उनमे, और … Continue reading ना बम, ना बंदूक, ना बारूद, पाकिस्तान के लिए एक फ़िरोज़ ख़ान ही काफ़ी था